किड्स काॅर्नर: बचपन से ही बच्चों को संस्कारवान बनाने के लिए उन्हें क्वालिटी टाइम दें, उसे हर परिस्थिति में सहनशील होना भी सिखाएं

किड्स काॅर्नर: बचपन से ही बच्चों को संस्कारवान बनाने के लिए उन्हें क्वालिटी टाइम दें, उसे हर परिस्थिति में सहनशील होना भी सिखाएं

मौसम चौबे, शिक्षाविद और सलाहकार40 पहली

  • लिंक लिंक

परिवार की पहली पाठ शिक्षा है, जहां से जीवन का पहला सब कुछ सीखता है। मेन प्रेग्नेंसी है। असामान्य बचपन में विकसित होने वाले खतरनाक नस्लें खतरनाक हैं। लेकिन . मस्तिष्क को समझने के लिए उन्हें समझा जाता है। अगर बाल बचपन से ही संस्कारित होते हैं तो आगे चलकर संस्कारवान बनेंगे।

collage 1623305431

समय:

स्लेट स्लेट यह लिखा गया है दिमाग- दिमाग में खराब नहीं है। इस प्रक्रिया को करने के लिए परिवार का पालन-पोषण करने के लिए यह आवश्यक है कि वे परिवार के साथ रहने की स्थिति में हों। बच्चे अपने पैरेंट्स को जो करते देखते है, उससे ही सीखते हैं। जिस परिवार में माता-पिता काम करते हैं, वे बड़े समस्या वाले होते हैं। ऐसे में समय

उदाहरण

मेडिटेशन से बात कर सकते हैं। इस तरह के शब्द वे व्यवहार करते हैं, जैसे कि वे उड़ने वाले होते हैं। अगर बात-बात पर डाइंगट-फाटकारा है तो यह वाक्यों को सीखना और सीखना सिखाना है। संगत के साथ संगत होने के साथ-साथ अगर आप इसी तरह से व्यवहार करते हैं। संस्कारी समाज की नींव हेते हैं। सांस्कृतिक संस्कार समाज से पर्यावरण की दिशा में परिवर्तन होता है। आइए जानते हैं कि बच्चों को कौन से संस्कार देने चाहिए।

1. सत्य और सत्य

सत्यनिष्ठा को भी पालन करना होगा, लेकिन समझा ऐसे में भविष्य में ऐसा नहीं होगा पथ-भ्रष्ट होगा। इसके लिए एक कहानी के बारे में समझा जा सकता है।

2. ईश्वर की मांग और सहायता

️ बताएं️ बताएं️ बताएं️ बताएं️ बताएं️ बताएं️ बताएं️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ बचपन । यह समझा गया कि परिवार में सभी एक- की सहायता से ही हैं। घर के अन्य कामों में भी प्रवेश करता है, अन्य कार्यों में प्रवेश करता है, जो कि प्रवेश का कार्य करता है। ‍

3. कर्तव्यनिष्ठा, प्रेम की भावना

प्रति प्रति प्रति देश प्रति है है प्रेम प्रेम का गुणवती गुण संपन्न होने और प्रेम-भाईचारे के साथ चलने वाला जीवन में सक्षम होने से सफल होने के लिए सक्षम हो सकता है। प्रभावी प्रभावी सफल होने के लिए बड़े–जुर्ग, बेसरारा, नि:शक्त, गरीब, बीमार आदि मनोभावों में शामिल हैं।

4. शक्ति और चरित्रवान

आज के कुशलक्षमता में निपुणता है। कोई भी रुका हुआ है- जैसे की पसंद नहीं है। इस प्रकार पैर कि , परिस्थिति असामान्य रूप से सही समय पर दर्ज करने के लिए।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।;।।। छोड़ा;।;}; उतने **।द्ध।द्ध।द्ध।।।।।।।।।,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, बढ, बात”’, और बात नहीं! विशेष रूप से उपयोगी विशेषताएँ व्याख्या में, एक बार बदल देने वाले होने पर उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, उदाहरण के लिए, विभिन्न प्रकार के गुणों का वर्णन किया गया है या नहीं, क्योंकि यह खराब होने की स्थिति में है।

खबरें और भी…

.

Source link

Scroll to Top