NDTV News

Jharkhand Tops In Vaccine Wastage; Kerala, Bengal Report Negative Wastage

जबकि केरल ने -6.37% वैक्सीन बर्बादी की सूचना दी, पश्चिम बंगाल ने -5.48% अपव्यय दर्ज किया।

नई दिल्ली:

केरल और पश्चिम बंगाल ने मई में COVID-19 टीकों की नकारात्मक बर्बादी दर्ज की, जिससे क्रमशः 1.10 लाख और 1.61 लाख खुराक की बचत हुई, जबकि झारखंड ने सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 33.95 प्रतिशत की अधिकतम बर्बादी दर्ज की।

जबकि केरल ने -6.37 प्रतिशत टीका बर्बादी की सूचना दी, पश्चिम बंगाल में -5.48 प्रतिशत दर्ज किया गया।

छत्तीसगढ़ में 15.79 प्रतिशत टीके बर्बाद हुए जबकि मध्य प्रदेश ने 7.35 प्रतिशत की सूचना दी।

पंजाब, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र जैसे राज्यों ने क्रमश: 7.08 प्रतिशत, 3.95 प्रतिशत, 3.91 प्रतिशत, 3.78 और 3.63 प्रतिशत और 3.59 प्रतिशत रिपोर्ट की।

आंकड़ों से पता चला है कि मई में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कुल 790.6 लाख टीकों की आपूर्ति की गई थी, जिसमें से कुल टीकाकरण 610.6 लाख थे जबकि 658.6 लाख शॉट्स का उपयोग किया गया था और समापन शेष 212.7 लाख था।

मई में टीकाकरण अप्रैल की तुलना में कम था जिसमें कुल 898.7 लाख टीकाकरण किए गए थे, 902.2 लाख टीकों का उपयोग किया गया था और समापन शेष 80.8 लाख था।

७ जून तक ४५ से अधिक आबादी के लिए भारत की पहली खुराक कवरेज ३८ प्रतिशत आंकी गई थी, जिसमें त्रिपुरा का कवरेज ९२ प्रतिशत, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में ६५ प्रतिशत, गुजरात में ५३ प्रतिशत, केरल में ५१ प्रतिशत और दिल्ली में ४९ प्रतिशत था।

45 से अधिक आबादी वाले तमिलनाडु में पहली खुराक का कवरेज 19 फीसदी, झारखंड और उत्तर प्रदेश में 24 फीसदी और बिहार में 25 फीसदी है।

(यह कहानी NDTV स्टाफ द्वारा संपादित नहीं की गई है और एक सिंडिकेटेड फ़ीड से स्वतः उत्पन्न होती है।)

.

Source link

Scroll to Top